Adsense responsive

मंगलवार, 27 मार्च 2018

भारत में ऐसे कई गांव हैं जिनके बारे में अजीबोगरीब कहानियां



भारत में कई गांव हैं जिनके बारे में अजब गजब कहानियां हैं और लोग इन गांवों को इन्हीं अजीबोगरीब रहस्यों से जाना जाता है।

हिमाचल प्रदेश शहर जितना अपनी प्राकृतिक सुंदरता के कारण जाना जाता है उतना ही यहां की परंपराओं के कारण भी प्रसिद्व है। हिमाचल प्रदेश के कुल्लू जिले में इस दूरदराज इलाके में मलाणा गांव हैं जिसके बारे में अजीबोगरीब कहानी है। देश भर में एक यहीं गांव है जहां अकबर की पूजा होती है। यहां कोई कानून नहीं माना जाता है बल्कि गांव ने ही अपने कानून बना रखे हैं। गांव की ही एक संसद है जो सारे फैसले लेती है। इस गांव में किसी बाहरी आदमी के छूने की मनाही है। मतलब, कोई दूसरे शहर या गांव का शख्स यदि यहां के किसी आदमी को छूता है तो उस पर एक हजार का जुर्माना ठोक दिया जाता है और ये जुर्माना उस बाहरी शख्स से लिया जाता है जो छूता है।

उत्तरप्रदेश में एक गांव की पूरी दुनिया में चर्चाएं है। यह गांव अपनी एक खासियत की वजह से पूरे देश में पहचाना जाता है। इस गांव का नाम है सलारपुर खालसा जो अमरोहा जनपद के जोया विकास खंड क्षेत्र का एक छोटा सा गांव है। इस गांव की जनसंख्या 3500 है। इस गांव के टमाटर सबसे ज्यादा प्रसिद्व है। बताया जाता है कि इस गांव में टमाटर की खेती बडे पैमाने पर होती है। देश का शायद ही कोई कोना होगा, जहां पर सलारपुर खालसा की जमीन पर पैदा हुआ टमाटर न जाता हो।

राजस्थान के जैसलमेर में भी एक गांव भुतहा है जिसका नाम कुलधरा गांव है। वैसे तो ये टूरिस्ट स्पॉट है लेकिन भूतों के भय से 170 साल से वीरान पडा है। रात को यहां कोई नहीं आता है। कहते हैं यहां पालीवाल ब्राह्मणों की आवाजें सुनाई देती हैं।\

पंजाब के जालंधर शहर उप्पलां नाम से एक गांव है। इस गांव की सबसे खास बात यह है कि गांव के लोगों की पहचान पानी की टंकियों से जाना जाता है। यहां के मकानों की छतों पर आम वाटर टैंक नहीं है, बल्कि यहां पर शिप, हवाई जहाज, घोडा, गुलाब, कार, बस आदि अनेकों आकर की टंकिया है। इस गांव के अधिकतर लोग पैसा कमाने लिए विदेशों में रहते है। गांव में खास तौर पर एनआरआईज की कोठियां में छत पर इस तरह की टंकिया रखी है। अब कोठी पर रखी जाने वाली टंकियों से उसकी पहचानी जा रही हैं।

केरल के मलप्पुरम जिले में कोडिन्ही नाम से एक गांव है। जहां जुडवा जोडे बडी तादाद में है। इसे ट्विंस विलेज के नाम से जाना जाता है। विश्वस्तर पर एक हजार बच्चों में चार जुड़वां होते हैं लेकिन यहां ये प्रतिशत काफी ज्यादा है। यहां एक हजार बच्चों में 45 बच्चे जुडवां होते हैं।

कर्नाटक के शिमोगा शहर के दस किलोमीटर दूर एक गांव है जिसका नाम है मुत्तुरू गांव। इसगांव के लोग केवल संस्कृत में ही बात करते हैं। बच्चों की सारी शिक्षा दीक्षा संस्कृत में ही की जाती है

साईं बाबा के दरबार से तो सब परिचित हैं। इनके पास ही है शनि शिंगणापुर, जो महाराष्ट्र के अहमदनगर जिले में पडता है। यहां शनि का प्रसिद्ध मंदिर हैं। इस गांव में कभी चोरी नहीं होती है। इसलिए गांव के किसी घर में दरवाजे नहीं होते। कहा जाता है कि शनि देव गांव की रक्षा करते हैं।

सरकारी नौकरियों के बारे में ताजा जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपरोक्त पोस्ट से सम्बंधित सामान्य ज्ञान की जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपचार सम्बंधित घरेलु नुस्खे जानने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

देश दुनिया, समाज, रहन - सहन से सम्बंधित रोचक जानकारियाँ  देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 



सोमवार, 19 मार्च 2018

सुख-समृद्धि पाने के लिए कुछ खास उपाय

सुख-समृद्धि पाने के लिए कुछ खास उपाय


सुख-समृद्धि पाने के लिए ज्योतिष और वास्तु के नियमों का पालन करने से लाभ मिल सकता है। वास्तु में धन संबंधी परेशानियों को दूर करने के लिए कुछ खास उपाय--

1. भगवान कुबेर और सूर्य देव की कृपा पाने के लिए सोते समय अपना सिर ऐसे रखें कि उठते समय आपके पैर पूर्व या दक्षिण दिशा की ओर न हो।

2. न‌ियम‌ित रूप से उगते हुए सूर्य को तांबे के लोटे से जल चढ़ाएं। जल चढ़ाते समय सूर्य का मंत्र 'ऊँ आद‌ित्याय नमः' मंत्र का जप करें।

3. हर द‌िन अपने इष्ट देव की पूजा करें। अगर समय कम हो तो धूप-दीप जलाकर थोड़ी देर उत्तर या पूर्व द‌िशा की ओर मुंह करके ध्यान करें।

4. पूजन के समय तांबे के बर्तन में जल भरकर रखें और उसे पूजा के बाद घर के हर भाग में छ‌िड़क दें। इससे पॉजिटिव एनर्जीबनी रहती है।

5. देवी देवताओं पर चढाए गए फूल और हार सूख जाने पर घर में नहीं रहने दें, इसे जल में प्रवाह‌ित कर देना चाह‌िए।

6. बीमारियों और परेशानियों से बचने के लिए भोजन हमेशा उत्तर की ओर मुंह करके करना चाह‌िए।

7. भोजन हमेशा किचन में ही करना चाहिए, इससे राहु का अशुभ प्रभाव कम होता है। बेडरूम और ब‌िस्तर पर भोजन करने से नेगेटिव प्रभाव पड़ता है।

8. हर द‌िन भोजन बनाते समय पहली रोटी गाय के ल‌िए और अंत‌िम रोटी कुत्ते के ल‌िए न‌िकालकर रख दें। इससे ग्रहों के अशुभ प्रभाव खत्म हो जाते हैं।

9. न‌ियम‌ित तुलसी के पौधे को जल दें और शाम के समय दीपक जलाएं। इससे घर पर हमेशा लक्ष्मी की कृपा बनी रहती है।

10.सूर्योदय और सूर्यास्त के समय नहीं सोना चाह‌िए। ऐसा करना कई तरह के दुखों और परेशानियों का कारण बनता है।सरकारी नौकरियों के बारे में ताजा जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपरोक्त पोस्ट से सम्बंधित सामान्य ज्ञान की जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपचार सम्बंधित घरेलु नुस्खे जानने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

देश दुनिया, समाज, रहन - सहन से सम्बंधित रोचक जानकारियाँ  देखने के लिए यहाँ क्लिक करें ।