Adsense responsive

गुरुवार, 15 जून 2017

क्यों होते हैं जुड़वां बच्चे



यह सवाल अक्सर हमारे मन में उठता है कि आखिर क्यों कुछ महिलाओं को जुड़वां या तीन बच्चे एक साथ होते हैं? आज हम यहां इसी सवाल का जवाब देने की कोशिश कर रहे हैं।

क्या होती है मल्टिपल प्रेग्नेंसी
एक से ज्यादा बच्चों को जन्म देने की घटना को मेडिकल टर्म में मल्टिपल प्रेग्नेंसी कहा जाता है। इसका मतलब है कि किसी महिला के गर्भ में दो या ज्यादा बच्चे हैं। ये बच्चे एक ही एग या अलग-अलग एग से हो सकते हैं।

दो तरह के होते है ट्विन्स
आइडेंटिकल ट्विन्स : एक ही एग से पैदा होने वाले बच्चे आइडेंटिकल कहलाते हैं। ऐसा तब होता है जब एक एग एक स्पर्म से फर्टिलाइज होता है। इसके बाद फर्टिलाइज्ड एग दो या ज्यादा हिस्सों में बंट जाता है। इसे काफी रेयर माना जाता है। इन बच्चों का चेहरा और नेचर बिल्कुल मिलता-जुलता होता है।

फ्रेटरनल ट्विन्स :अलग-अलग एग से पैदा होने वाले बच्चे फ्रेटरनल कहलाते हैं। ऐसा तब होता है जब दो या ज्यादा एग अलग-अलग स्पर्म से फर्टिलाइज होते हैं। अगर महिला के परिवार में पहले से ही फ्रेटरनल ट्विन्स हैं तो इसकी संभावना बढ़ जाती है। अधिकांश ट्विन्स इसी तरह के होते हैं। ऐसे ट्विन्स एक जैसे भी दिख सकते हैं और अलग-अलग भी।


क्यों होते हैं जुड़वां बच्चे
जुड़वां बच्चे होने के कई कारण होते है जिनमे से 6 प्रमुख कारणों के बारे में हम आपको बता रहे हैं –

1. फर्टिलिटी ट्रीटमेंट – जो महिलाएं IVF का सहारा लेती हैं या फर्टिलिटी दवाएं खाती हैं, उनमें ट्विन्स होने के चांस बढ़ जाते हैं।
क्यों – IVF में चांस बढ़ने के लिए यूट्रस में एक से ज्यादा फर्टिलाइज़्ड एग रखे जाते हैं। वहीं फर्टिलिटी दवाओं से भी ज्यादा एग बनते हैं।


2. फैमिली हिस्ट्री – अगर महिला के परिवार (मां, बहन, दादी) में पहले से ट्विन्स हैं तो उसको भी ट्विन्स होने की संभावना बढ़ जाती है।
क्यों – महिलाएं एग प्रोड्यूसर होती हैं। इसलिए उनके परिवार की मां या बहनों के जीन्स उनमें ट्रांसफर होते हैं।

3. लाइफस्टाइल – नॉनवेज और हाई फैट खाने वाली या मोटापे से ग्रस्त महिलाओं में ट्विन्स बेबी होने के चांस ज्यादा होते हैं।
क्यों – हाई फैट डाइट लेने वाली महिलाओं में हॉर्मोनल चेंजेस के कारण ऐसा हो सकता है।

4. एज़ – 30 से 40 साल की उम्र में मां बनने वाली महिलाओं में मल्टिपल प्रेग्नेंसी होने के ज्याद चांस होते हैं।
क्यों – डॉक्टर्स के मुताबिक बढ़ती उम्र में ओवरी का फंक्शन चेंज होता है और एग इवोल्यूशन बढ़ जाता है।

5. बच्चों की संख्या – जिन्हें पहले ट्विन्स या ज्यादा बच्चे है उन महिलाओं में मल्टिपल प्रेग्नेंसी होने के चांस बढ़ जाते हैं।
क्यों – महिला में एग प्रोड्यूस करने की क्षमता काफी अच्छी होने के कारण ऐसा होता हैं।

6. प्लेस – दुनिया के दूसरे हिस्सों के मुकाबले वेस्ट अफ्रीकन कंट्रीज़ में ट्विन्स होने के मामले ज्यादा सामने आते हैं।
क्यों – इसके पीछे इन इलाकों के क्लाइमेट और फ़ूड हैबिट्स को जिम्मेदार माना जाता हैं।

ट्विन्स पर कुछ इंट्रेस्टिंग स्टडीज
ट्विन्स पैदा करने वाली माताएं सामान्य माताओं की तुलना में ज्यादा जीती हैं। (उटाह यूनिवर्सिटी की स्टडी)
साढ़े पांच फ़ीट से ज्यादा हाइट वाली महिलाओं में ट्विन्स होने के चांस ज्यादा होते हैं। (रिसर्चर गेरी स्टीनमेन की स्टडी)
डेयरी प्रोडक्ट ज्यादा खाने वाली महिलाओं में ट्विन्स होने के चांस 5 गुना तक अधिक होते हैं। (जनरल ऑफ़ रिप्रोडक्टिव मेडिसिन में पब्लिश स्टडी)
गर्भ में ट्विन अपनी बॉडी के बजाय दूसरे बच्चे की बॉडी को ज्यादा टच करते हैं। (यूनिवर्सिटी ऑफ़ पेडोवा, इटली के रिसर्चर की रिसर्च)सरकारी नौकरियों के बारे में ताजा जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपरोक्त पोस्ट से सम्बंधित सामान्य ज्ञान की जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपचार सम्बंधित घरेलु नुस्खे जानने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

देश दुनिया, समाज, रहन - सहन से सम्बंधित रोचक जानकारियाँ  देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 



कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें