Adsense responsive

सोमवार, 10 अप्रैल 2017

हनुमान जयंती पर ये खास उपाय

These special measures on Hanuman Jayanti


11 अप्रेल को पूरी दुनिया में महावीर बजंरगबली की जयंती मनाई जाएगी। आसुरी शक्तियों के विनाश के अलावा ग्रहजनित दोष या तंत्र-मन्त्र के ऋणात्मक प्रभावों का शमन हनुमान जी की उपासना व जाप से निम्नानुसार होता है-

ग्रह जनित बाधाएं---
नव ग्रहों में राहू ,केतू व शनि जातकों को सर्वाधिक पीड़ित करते हैं, ऐसे में राहू से बाधाएं होने पर आप हनुमान जी की नियमित आराधना के साथ इन्हें हर छह माह के अंतराल पर चोला चढ़ाएं। मंगलवार के दिन लौंग लगाकर बूंदी के लड्डुओं का प्रसाद चढ़ाएं अौर हनुमाना चालीसा का पाठ करें। शनिकृत दोषों के शमनार्थ निरंतर हनुमान चालीसा का पाठ करें। एक पौराणिक कथानुसार शनि देव ने हनुमान जी से वादा किया हुआ है की वे उनके भक्तों को परेशान नहीं करेंगे। केतू कृत दोषों के शमनार्थ मंगल दोष संबंधी उपाय ही किए जाते हैं, इसके लिए हनुमान जी के सामने “ॐ हं हनुमते नमः’ मंत्र के 40000 जाप करे या कराएं क्योंकि शास्त्रनुसार ‘कुजवत केतू शनिवत राहू।




शत्रु से मुक्ति के लिए----
यदि कोई शत्रु परेशान कर रहा है या न्यायालय में मुकदमा कर रखा है तो इसके उपाय के लिए बजरंग बाण का पाठ नित्य सात बार घी का दीपक जलाकर रात्रि मे नौ बजे के बाद करें। शीघ्र मुक्ति मिलेगी|

रोगों के शमनाें के लिए---
हनुमान जी की प्रतिमा के सामने राम रसायन तुम्हारे पासा, सदा रहो रघुपटी के दासा की एक माला चमेली के तेल का दीपक जलाकर करें तो कैसा भी रोग हो, शीघ्र निदान होगा|




ऋण मुक्ति के लिए--
प्रत्येक माह की त्रयोदशी से पूर्णिमा तक हनुमान जी की प्रतिमा के आगे लाल वस्त्र पर ऋण मक्ति यंत्र व लक्ष्मी यंत्र की स्थापना कर हनुमान गायत्री मंत्र की तीन माला का जाप सुबह शाम करें| तीन महीनों में ही दिन बदलने लगेंगे।

टोने-टोटकों के उपाय--
टोने-टोटकों के दुष्प्रभावों को दूर करने के लिए ॐ हं हनुमतये फट स्वाहा मंत्र से तीन माला नित्य जपा करें। कुछ ही दिनों में आपको असर दिखने लगेगा।




काला जादू या भूत प्रेत बाधा
किसी भी तरह की बाधा निवारणार्थ नित्य पंचमुखी हनुमान जी की पूजा करें और ॐ हं हनुमते नमः मंत्र का जाप मध्यान्ह काल में लाल आसन पर उत्तराभिमुख बैठकर करें| हनुमान जयंती के दिन हनुमान जी के सिंदूर,चमेली का तेल व चांदी के वर्क से चोला चढ़ाए, ध्वजारोहण करें, नारियल भेंट कर पूजा-प्रार्थना कर व हनुमानजी को रोट या चूरमे का भोग लगाएं|सरकारी नौकरियों के बारे में ताजा जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपरोक्त पोस्ट से सम्बंधित सामान्य ज्ञान की जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपचार सम्बंधित घरेलु नुस्खे जानने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

देश दुनिया, समाज, रहन - सहन से सम्बंधित रोचक जानकारियाँ  देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 



कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें