Adsense responsive

बुधवार, 11 जनवरी 2017

हनुमान ज्योतिष यंत्र: जानिए इससे धन, दाम्पत्य जीवन, प्रेम, रोग संबंधित प्रश्नों के उत्तर



 Hanuman Yantra Astrology



हमारे धर्मग्रंथो में अनेकों यंत्रों का वर्णन है, उन्ही में से एक है हनुमान ज्योतिष यंत्र। इस यंत्र के माध्यम से आपको पैसा, विवाह, प्रेम, स्वास्थ्य आदि से जुड़े सवालों के जबाव मिल सकते हैं। जरूरत है तो बस इस यंत्र पर पूर्ण विश्वास करने की। इस यंत्र की उपयोग विधि इस प्रकार है-



श्री हनुमान ज्योतिष यंत्र में सात खाने (कॉलम) होते हैं। इसका उपयोग करने से पहले पांच बार ऊं रां रामाय नम: मंत्र का तथा बाद में 11 बार ऊं हनुमते नम: मंत्र का जाप करें। इसके बाद आंख बंद करके अपनी मनोकामना के बारे में पूछते हुए इस यंत्र पर कर्सर घुमाएं। जिस खाने में यह कर्सर रुक जाए, उस अंक का फलादेश देखकर ही कार्य करें। यह कार्य पूरी श्रद्धा व विश्वास से करें।


आपको कब धन की प्राप्ति हो सकती है, इसका उत्तर इस प्रकार है-
1.धन प्राप्ति में विलंब होगा।
2. दूसरों की मदद करने से लाभ मिलेगा।
3. आपके पास धन है और धन की प्राप्ति होगी।
4. कर्म पर ध्यान दें। इसी से धन की प्राप्ति होगी।
5. हर कार्य खुशी से करें। लक्ष्मी अवश्य प्रसन्न होगी।
6. आपका धन सुरक्षित है। चिंता न करें।
7. धन के लिए किसी से विवाद न करें। समय आने पर धन की प्राप्ति होगी।

दांपत्य जीवन से संबंधी प्रश्नों के उत्तर इस प्रकार हैं-
1. दांपत्य प्रेम में वृद्धि होगी।
2. आपका दांपत्य जीवन सुखपूर्वक बीतेगा।
3. जीवनसाथी के आने से भाग्योदय होगा और प्रेम भी बढ़ेगा।
4. परायों के कारण परेशानी होगी।
5. वाणी में मधुरता रखें अन्यथा मतभेद और बढ़ेंगे। ऊं नम: शिवाय मंत्र का जाप करें।
6. पैसों को लेकर तनाव और कलह रहेगी।
7. दाम्पत्य में खुशियां मिलेंगी।


प्रेम से संबंधित प्रश्नों के उत्तर इस प्रकार हैं-
1.प्रेम में सफलता का योग है।
2. तीसरे व्यक्ति के बीच से हटने के बाद ही सफलता मिलेगी।
3. अभी सफलता प्राप्त होने में देरी है।
4. प्रेम विवाह का परिणाम अच्छा रहेगा।
5. प्रेम विवाह में बाधा होगी।
6. सफलता मिलेगी, लेकिन देरी से।
7. आसानी से सफलता मिलेगी।

जानिए आपका बुरा समय कब समाप्त होगा-
1. आलस्य छोड़ें, काम करें। छ: माह में सफलता मिलने लगेगी।
2. अपनों की सलाह से चलें, मनमानी और जिद छोड़ें।
3. भाग्य अभी साथ नहीं है। थोड़े समय बाद अनुकूल होगा।
4. बुजुर्गों का आदर करें तथा दान-पुण्य करें, लाभ मिलेगा।
5. पत्नी की सहायता से बुरा समय जल्दी ही कट जाएगा।
6. दो साल तक और अच्छे समय का इंतजार करना पड़ेगा।
7. शीघ्र ही आपका समय अच्छा आने वाला है।


विवाह से संबंधित आपके प्रश्नों के उत्तर इस प्रकार हैं-
1. दक्षिण दिशा में विवाह का योग है, लेकिन अभी देरी है।
2. शीघ्र ही आपकी मनोकामना पूरी होगी।
3. विवाह में बाधाएं आएंगी।
4. शिव-गौरी का पूजन करें तथा मंगल स्त्रोत का पाठ करें।
5. दो वर्ष के बाद विवाह का योग है।
6. अभी विवाह में अड़चनें हैं।
7. शीघ्र ही विवाह होगा।

रोग से संबंधित आपके प्रश्नों के उत्तर इस प्रकार हैं-
1.रोग का उपाय करें, लाभ मिलेगा।
2. भक्ति में ही शक्ति है, इष्टदेव की भक्ति एवं उपासना करें। रोग से मुक्ति मिलेगी।
3. रोग गंभीर है, भारी परेशानी रहेगी।
4. अभी स्वस्थ होने में कम से कम छ: माह लगेंगे।
5. उपचार में परिवर्तन करें, शीघ्र लाभ मिलेगा।
6. दूसरे स्थान पर जाएं, जलवायु बदलने से लाभ मिलेगा।
7. पूर्व कर्मों का फल है। मुक्ति मिलना कठिन है।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें