Adsense responsive

शुक्रवार, 2 सितंबर 2016

शनिवार को करें ये काम, सभी कष्टों से मिलेगी मुक्ति


हिंदू धर्म ग्रंथों में शनिदेव को न्यायाधीश कहा गया है अर्थात मनुष्य के अच्छे-बुरे कर्मों का फल देना शनिदेव का काम है। जिसकी कुंडली में शनिदेव प्रतिकूल स्थान पर बैठे हों उसे जीवन भर किसी न किसी परेशानी का सामना करना पड़ता है। ज्योतिष व तंत्र शास्त्र में शनिदेव को प्रसन्न करने के कई उपाय बताए गए हैं उनमें से कुछ प्राचीन उपाय आज भी बहुत कारगर हैं।




शनिदेव के नाम पर एक सरसों के तेल का दीपक जलाये।
-पूजा समाप्ति के बाद शनिदेव से आपके द्वारा किये गये जाने अनजाने पापो के लिए क्षमा याचना करें।







-शनि महाराज की पूजा के पश्चात राहु और केतु की पूजा भी करनी चाहिए।




इस दिन ही पीपल के पेड़ पर जल सींच कर उसके सूत्र बांधे और फिर सात बार परिक्रमा करे।




आप भी किसी भी शनि मंदिर में जाकर इन्हे काले तिल, सरसों का तेल, गुड, नीले लाजवंती के पुष्प अर्पण करे।


- हो सके तो इस दिन काले कपडे ही पहने क्योकि काला रंग शनि को प्रसन्न करता है।




काले कुत्ते और तेल की चुपड़ी रोटी और कौए को गुलाब जामुन खिलाया जाये तो अति फलदायी है।


- जरुरतमंदो को दान करना भी शनि कृपा प्राप्ति का एक मार्ग है अत: शनिवार को अच्छे से दान करे


-आज के दिन शनि देव को समर्पि्रत व्रत करें।




इस प्रकार भक्ति एवं श्रद्धापूर्वक शनिवार के दिन शनिदेव का व्रत एवं पूजन करने से शनि की असीम कृपा की प्राप्ति होती है, साथ ही साथ राहु केतु की भी दशा सुधरती है। शनि यदि आपका मित्र बन जाता है तो फिर दुखो का आपके जीवन में कोई स्थान नही बचतासरकारी नौकरियों के बारे में ताजा जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपरोक्त पोस्ट से सम्बंधित सामान्य ज्ञान की जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपचार सम्बंधित घरेलु नुस्खे जानने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

देश दुनिया, समाज, रहन - सहन से सम्बंधित रोचक जानकारियाँ  देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 



कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें