Adsense responsive

बुधवार, 17 फ़रवरी 2016

जवान होने से जुडी खतरनाक, दर्दनाक और विचित्र परम्पराएं


जवान होने से जुडी खतरनाक, दर्दनाक और विचित्र परम्पराएं


जवान होना हर इंसान के जीवन में एक महत्तवपूर्ण पड़ाव होता है।  लेकिन कई समाजों में खासकर आदिवासी समाजों में जवान होने का दर्जा प्राप्त करने के लिए कई खतरनाक, दर्दनाक और विचित्र परम्पराओं से गुजरना पड़ता है। इनको सफलतापूर्वक उत्तीर्ण करने के बाद ही उन्हें जवान का दर्ज़ा देकर मुख्य धारा में शामिल किया जाता है।  आज इस लेख में हम आपको 12 ऐसी ही परम्पराओं के बारे में बताएँगे जिसको पढ़कर आप भगवान को शुक्रिया अदा करेंगे की आपको किसी ऐसे समाज में जन्म नहीं दिया।
1. खतरनाक ‘बुलेट आंट’ से खुद को कटवाना
Bizarre rituals related to adulthood
सतेरे-मो नामक जनजाति के लोग एक अजीबोगरीब परंपरा को निभाते आ रहे हैं, जिसे पूरा करने के बाद ही व्यक्ति खुद को वयस्क कह सकता है। इस जनजाति के लोग लड़कों को एक खतरनाक कीड़े-मकोड़ों (बुलेट आंट) से भरा दस्ताना पहनाते हैं। अगर संबंधित लड़का उस दस्ताने को बिना किसी परेशानी या दर्द के दस मिनट तक पहनकर रखता है तो वह वयस्क कहलाता है। लेकिन यदि वो बुलेट आंट के काटने से होने वाले दर्द के कारण रो देता है तो उसे वयस्क नहीं माना जाता है।  बुलेट आंट के कारण बहुत तेज़ दर्द होता है।  10 मिनिट तक इन चीटियों से कटवाने के बाद हाथ कई दिनों के लिए सूज जाता है।

2. खतना
Bizarre rituals related to adulthood
इस्लाम धर्म में पुरुषों का खतना करने की परंपरा है लेकिन मध्यपूर्व और एशिया के बहुत से ऐसे देश हैं जहां युवा होते ही लड़कियों का भी खतना किया जाता है। यह बेहद खतरनाक और घातक प्रक्रिया है लेकिन इसे एक परंपरा के तौर पर सदियों से अपनाया जा रहा है।
3. चेहरे पर कई टैटू बनवाना 
Bizarre rituals related to adulthood
पश्चिमी अफ्रीका की फुलानी जनजाति की महिलाओं को युवावस्था के पड़ाव को पार करने के लिए अपने चेहरे पर भिन्न-भिन्न प्रकार के टैटू बनवाने पड़ते हैं। ये टैटू इस बात का प्रमाण होते हैं कि संबंधित महिला वयस्क हो चुकी है।
4. चार दिन तक लगातार जागना 
Bizarre rituals related to adulthood
मदान जनजाति के युवक केवल तभी योद्धा कहलाए जा सकते हैं जब उन्हें चार दिन का व्रत रखने और एक मिनट के लिए भी ना सोने के पश्चात उनकी छाती से एक तार निकालकर उन्हें छत से टांग दिया जाता है। अगर वे इस कसौटी को सफलतापूर्वक पार जाते हैं तो वे योद्धा कहलाते हैं।
5. दुश्मन की बलि चढ़ाना 
Bizarre rituals related to adulthood
एज़टेक साम्राज्य में 17  वर्ष के लड़कों को युद्ध क्षेत्र के लिए तैयार रहने के लिए परीक्षण पर भेज दिया जाता था। उनका यह परीक्षण तब तक पूरा नहीं होता था जब तक कि वे अपने किसी दुश्मन की बलि चढ़ा सकने में कामयाब नहीं हो जाते।
6. बचपन की यादों को खत्म करना 
Bizarre rituals related to adulthood
विलुप्त होने की कगार पर पहुंच चुकी भारतीय जनजाति अल्गोंक़ुइन के लोग एक बेहद अजीब परंपरा को निभाते हैं। इस समाज में किसी व्यक्ति के वयस्क होने पर उसको एक पिंजरे में रखकर एक विशेष ड्रग देते हैं। इस ड्रग को लेने के कुछ दिनों बाद व्यक्ति अपने बचपन की किसी भी याद को संजोकर नहीं रख पाता।
7. बहुत बड़ी उम्र की स्त्री के साथ संभोग
Bizarre rituals related to adulthood
प्राचीन यूनान में यह परंपरा थी कि मिलिट्री में आने से पहले किसी भी युवक को अपने से उम्र में बहुत बड़ी महिला के साथ शारीरिक संबंध स्थापित करने होते थे।
8. शैतानी शक्ति को शरीर में प्रवेश करवाना 
Bizarre rituals related to adulthood
केन्या की ओज़िक जनजाति के लोग आज भी एक रहस्यमय रिवाज को अपनाते हैं। वे युवावस्था में कदम रख रहे लड़के या लड़की के शरीर को पूरी तरह से क्ले में ढककर रखते हैं। इसके बाद उनके अनुसार कोई शैतानी शक्ति उनके शरीर में प्रवेश कर जाती है। जब तक वे उस शैतानी शक्ति की आवाज को निकालने में कामयाब नहीं हो जाते तब तक वे वयस्क नहीं कहलाते।
9. परिवार और समाज लोगों के सामने निवस्त्र होना 
Bizarre rituals related to adulthood
इथोपिया के हमार जनजाति के लोगों की यह प्रथा थोड़ी शर्मिंदा करने वाली है क्योंकि इसमें संबंधित व्यक्ति को अपने परिवार के सामने नग्नावस्था में उपस्थित होना पड़ता है। उसके बाद उसे काली गायों के ऊपर से गुजरना पड़ता है। इसके बाद ही उन्हें विवाह करने की अनुमति मिलती है।
10. रक्त की पवित्रता
Bizarre rituals related to adulthood
मतौसा जनजाति के लोग खुद को पवित्र करने के लिए बहुत खतरनाक परंपरा को निभाते हैं। वे एक लकड़ी को तब तक अपने गले के भीतर डाले रहते हैं जब तक कि उन्हें उलटी ना हो जाए। इसके बाद वे उस लकड़ी  को अपने नाक और जीभ में डालकर खून बहाते है, ताकि उनका रक्त पवित्र हो जाए।
11. शेर का शिकार
Bizarre rituals related to adulthood
मसाई जनजाति के लोग तब तक वयस्क नहीं कहलाते है जब तक वो एक शेर का शिकार न कर लें। 
12. दांतों की ‘शेप’
Bizarre rituals related to adulthood
 मेंतावाई जाती की लड़कियां युवावस्था में कदम रखते ही अपने दांतों को शेप देने लगती हैं। उनका मानना है ऐसा करने से वे और भी खूबसूरत हो जाएंगी। हालांकि यह एक बहुत ही दर्दनाक प्रक्रिया है। 











सरकारी नौकरियों के बारे में ताजा जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपरोक्त पोस्ट से सम्बंधित सामान्य ज्ञान की जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपचार सम्बंधित घरेलु नुस्खे जानने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

देश दुनिया, समाज, रहन - सहन से सम्बंधित रोचक जानकारियाँ  देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 


कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें