Adsense responsive

बुधवार, 3 फ़रवरी 2016

धन दौलत और सुख शांति चाहिए तो यह सात चीजें घर में नहीं लाएं

धन दौलत और सुख शांति चाहिए तो यह सात चीजें घर में नहीं लाएं

वास्तु विज्ञान में बताया गया है कि हमारे आस-पास और घर में मौजूद चीजों का किसी न किसी रुप में हम पर जरुर असर होता है।

आपने महसूस भी किया होगा कि कोई चीज आपके घर में आई होगी और उसके बाद से घर में एक के बाद एक खुशखबरी और उन्नति होती गई होगी।

और कभी-कभी कुछ ऐसी चीजें घर में आ जाती हैं जिससे अचानक ही घर में परेशानियों का दौर शुरु हो जाता है। और हम यह भी नहीं समझ पाते हैं कि यह सब कैसे हो रहा है।

वास्तु विज्ञान में ऐसी ही सात चीजों का उल्लेख किया गया है जो घर में कभी भी नही लाना चाहिए। अगर ये चीजें घर में आ जाएं तो समझ लीजिए आपने खुद ही अपने घर में परेशानियों को निमंत्रण दिया है।

1. बहुत से लोग घर में टाइटेनिक जहाज और दूसरे डूबते हुए जहाज और नाव की तस्वीर घर में लगा लेते हैं। वास्तु विज्ञान कहता है कि इस तरत ही तस्वीर घर में नहीं लगानी चाहिए।

यह दृश्य दुर्भाग्य का सूचक है। इससे परिवार के सदस्यों का मनोबल गिरता और आपस में मतभेद और मनमुटाव बढ़ जाता है। ऐसी तस्वीर परिवार में नुकसान का सूचक माना जाता है।

धन संपत्ति एवं पारिवारिक सुख-शांति के लिए ऐसी तस्वीरों को घर में लगाना वास्तुविज्ञान के अनुसार उचित नहीं माना गया है।

2. वास्तु विज्ञान में बताय गया है कि घर में कभी भी जंगली जानवर खास तौर पर हिंशक पशुओं की तस्वीरों को घर में नहीं लगाना चाहिए।

इसका कारण यह है कि इन तस्वीरों से नकारात्मक उर्जा का संचार होता है और घर में रहने वालों की प्रवृति पर भी नकारात्मक प्रभाव पड़ता है। लागों में आपसी तालमेल की जगह एक दूसरे के प्रति द्वेष बढ़ता है।

परिवार में आपसी कलह के कारण सुख-चैन खोने लगता है। इसलिए इस तरह की तस्वीरों को घर में नहीं लगाना चाहिए।

03. बहुत से लोग घर में भूत-प्रेम और राक्षसों की भी तस्वीरें लगाते हैं। जबकि इस तरह की तस्वीरों से भले ही आपको लगे कि आपने अपने घर के कुछ नयापन दिया हो लेकिन वास्तव में यह नुकसानदायक होता है।

वास्तु विज्ञान कहता है कि इस तरह की तस्वीरों को घर में नहीं लगाना चाहिए। इससे घर में नकारात्मक उर्जा का संचार होता है जो घर में रहने वालों के लिए कष्टदायी होता है।

04. बहुत से लोग अपने घर में पानी का फव्वरा लगाते हैं या फिर घर की दीवार पर इनकी तस्वीर लगाते हैं। वास्तु विज्ञान कहता है कि इस तरह की तस्वीर और घर में इनकी मौजूदगी व्यय को बढ़ाता है।

इसका कारण यह है कि इस तरह की चीज गतिशीलता को दर्शाती है। धन के मामले में जितना ठहराव होगा यह आपकी खशहाली के लिए उतना ही बेहतर होगा।

वास्तु विज्ञान के अनुसार इनसे घर में आई हुई खशी और लक्ष्मी अधिक दिनों तक घर में नहीं ठहरती है। 

05. भगवान शिव के कई रुप हैं। इनमें कुछ तो शांत सौम्य और मंगलकारी हैं तो कुछ ऐसे भी रुप हैं जो विनाशकारी माने जाते हैं। ऐसे भयंकर रुपों में काल भैरव और नटराज का नाम आता है।

नटराज की मूर्ति और तस्वीर कलात्मक रुप से आकर्षक होते हैं इसलिए बहुत से लोग इसे अपने घरों में लाकर सजाते हैं। लेकिन वास्तु विज्ञान कहता है कि शिव का यह विनाशकारी रुप घर में नहीं होना चाहिए।

नटराज रुप में भगवान शिव तांडव करते हैं, जो विनाशकारी नृत्य है इसलिए न तो इसकी तस्वीर और न इसकी मूर्ति घर में होनी चाहिए।

06. ताजमहल की खूबसूरती लोगों को आकर्षित करती है। यही कारण है कि देश विदेश से लोगा ताजमहल देखने आते हैं। ताजमहल को आगरा आकर देखना और इसकी तस्वीर या मूर्ति को घर में सजा कर रखना दो अलग बातें हैं।

वास्तु विज्ञान के अनुसार ताजमहल एक समाधि है जो मौत की निशानी और नकारात्मकता का प्रतीक है।

इसे प्रेम का प्रतीक मानकर घर में नहीं रखना चाहिए। इससे पति-पत्नी के बीच प्रेम बढ़ने की बजाय दूरी बढ़ने का ख्याल बार-बार आता है।

07. बहुत से लोग घर में महाभारत की तस्वीर लगाते हैं। वास्तु विज्ञान के अनुसार महाभारत की तस्वीर घर की सुख-शांति में बाधक होती है।

महाभारत एक पारिवारिक युद्ध था जो परिवार में संघर्ष की भावना को बढ़ाता है। इसलिए महाभारत की तस्वीर घर में नहीं रखनी चाहिए।

वास्तु विज्ञान में यह भी कहा गया है कि युद्ध से संबंधित चीजें जैसे, तलवार, बंदूक, तोप और सैनिक की तस्वीरें घर में नहीं लगानी चाहिए। इससे क्रोध एवं आपस में द्वेष बढ़ता है।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें