Adsense responsive

मंगलवार, 2 फ़रवरी 2016

कहते हैं शाास्त्र, सूर्यदेव को जल चढ़ाने से मिलते हैं ये 7 फायदे

कहते हैं शाास्त्र, सूर्यदेव को जल चढ़ाने से मिलते हैं ये 7 फायदे


शास्त्रों में कहा गया है कि  हर दिन सूर्य को जल का अर्घ्य देना चाहिए और बहुत से लोग ऐसा करते भी हैं। लेकिन इसके भी कुछ नियम हैं जिन्हें जानकर नियमानुसार सूर्य को जल का अर्घ्य दिया जाए तो जीवन के विभिन्न क्षेत्रों में इसका लाभ प्राप्त किया जा सकता है। 

सूर्य को नियमित रूप से जल चढ़ाने से सूर्य का प्रभाव शरीर में बढ़ता है जिससे शरीर उर्जावान बनाता है और इसका लाभ कार्यक्षेत्र में मिलता है। 

ज्योतिषशास्त्र के अनुसार सूर्य आत्मा का कारक है। नियमित रूप से सूर्य को जल देने से आत्म शुद्धि और आत्मबल तो प्राप्त होता ही है साथ ही आरोग्य लाभ भी मिलता है। 

नियमित सूर्य को जल देने से नौकरी में चल रही परेशानी दूर होती है और उच्चाधिकारी से सहयोग मिलता है।

ज्योतिषशास्त्र के अनुसार के अनुसार स्नान के बाद तांबे के बर्तन से सूर्य को जल अर्पित करना चाहिए। 

सूर्य को जल देते समय 7 बार जल अर्पित करें। साथ-साथ सूर्य के मंत्र का जप भी करें तो यह विशेष लाभप्रद रहता है। अगर संभव हो तो इस दौरान लाल वस्त्र धारण करें। 

सूर्य को जल देने से पहले जल में चुटकी भर रोली या लाल चंदन मिलाएं और लाल पुष्प के साथ जल अर्पित करें। 

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें