Adsense responsive

शनिवार, 28 नवंबर 2015

जानिये अंग फड़कने का अच्छा और बुरा महत्व

जानिये अंग फड़कने का अच्छा और बुरा महत्व

आँख सबसे अधिक फड़कती है लोग शुभ-अशुभ जानने के लिए व्याकुल रहते है. दायीं आँख (right eye) ऊपर की ओर के फलक में फड़कती है तो धन,कीर्ति आदि की वृद्धि होती है. नौकरी (job) में पदोन्नति होती है नीचे का फलक फड़कता है तो अशुभ होने की संभावना रहती है.
बाँयी आँख का उपरी फलक फड़कता है तो दुश्मन (enemy) से और अधिक दुश्मनी हो सकती है. नीचे का फलक फड़कता है तो किसी से बेवजह बहस हो सकती है और अपमानित होना पड़ सकता है.
बाँयी आँख की नाक की ओर का कोना फड़कता है जिसका फल शुभ होता है.पुत्र प्राप्ति की सूचना मिल सकती है.या किसी प्रिय व्यक्ति (loving person) से मुलाक़ात हो सकती है.
दांयी आँख फड़कती है तो यह शुभ फलदायक होता है.लेकिन अगर किसी स्त्री की दांयी आँख फड़कती है तो उसे अशुभ माना जाता है.
दोनों आँखे एक साथ फड़कती हो तो चाहे वह स्त्री की हो या पुरुष (men or women) की, उनका फल एक जैसा ही होता है. किसी बिछुड़े हुए अच्छे मित्र से मुलाक़ात हो सकती है.
दांयी आँख पीछे की ओर फड़कती है तो इसका फल अशुभ होता है. बाँयी आँख ऊपर की और फड़कती हो तो इसका फल शुभ होता है.स्त्री की बाँयी आँख फड़कती हो तो शुभ फल होता है.
कंठ गला तेज गति से फड़कता है तो स्वादिष्ट और मनपसंद (delicious and favorite) भोजन मिलता है.किसी स्त्री का कंठ फड़कता है तो उसे गले आभूषण प्राप्त होता है.
कंठ का बांया भाग फड़कता है तो धन की उपलब्धि कराता है.किसी स्त्री के कंठ के निचले हिस्से का फड़कना कम मूल्य के आभूषणों (jewelry) की प्राप्ति की सूचना देता है. कंठ का उपरी भाग फड़कता है तो सोने की माला (gold chain) मिलने की संभावना बड जाति है. कंठ की घाटी के नीचे फड़कन होती है तो किसी हथियार से घायल (injured from weapon) होने की संभावना रहती है.
सिर के बाँयी ओर के हिस्से में फड़कन हो तो इसे बहुत ही शुभ माना गया है. आने वाले दिनों में यात्रा करनी पड़ सकती है. यदि आपकी यात्रा बिजनेस से सम्बंधित (business related) है तो ज्यादा नहीं तो थोडा बहुत लाभ अवश्य होगा. आपके सिर के दांयी ओर के हिस्से में फड़कन है तो यह शुभ फलदायक स्थिति है आपको धन,किसी राज सम्मान, नौकरी में पदोंन्नती, किसी प्रतियोगिता में पुरस्कार (prize in competition) , लाटरी में जीत,भूमि लाभ आदि की प्राप्ति हो सकती है.
आपके सिर का पिछला हिस्सा फड़कता है तो समझ लीजिए आपका विदेश जाने का योग बन रहा है.और वंहा आपको धन की प्राप्ति भी होने वाली है. लेकिन अपने देश में लाभ की कोई संभावना नहीं है आपके सिर के अगले हिस्से में फड़कन हो रही है तो यह स्थिति स्वदेश या परदेश दोनों में ही धन मान प्राप्ति का कारण बन सकती है.
आपका सम्पूर्ण सिर (whole head) फड़क रहा है तो यह सबसे अधिक शुभ स्थिति है आपको दुसरे का धन मिल सकता है,मुकद्दमे में जीत हो सकती है. राजसम्मान मिल सकता है या फिर भूमि की प्राप्ति हो सकती है.
सम्पूर्ण मूँछो में फड़कन है तो इसका फल बहुत ही शुभ माना गया है इससे दूध,दही,घी,धन धान्य का योग बनता है. अगर आपकी मूंछ (mustache) का दांया हिस्सा फड़कता है तो इसे शुभ समझना चाहिए. आपकी बाँयी मूंछ फड़कती है तो आपका किसी से बहस या झगड़ा (arguing) हो सकता है.
आपके तालू में फड़कन है तो यह आर्थिक लाभ (good sign of financial gain) का शुभ संकेत है.दांया तालू में फड़कन है तो यह बिमारी की सूचना दे रहा है. बांये तालू में फड़कन है तो आप किसी अपराध में जेल (jail – prison) जा सकते है.
आपके दांये कंधे में फड़कन में फड़कन है तो आपको धन, सम्मान और बिछुड़े हुए भाई से मिलाप हो सकता है. बांया कंधा फड़क रह है तो रक्त विकार या वात सम्बन्धी विकार उत्पन्न हो सकते है.
आपके दांये घुटने (right knee) में फड़कन है तो आपको सोने की प्राप्ति हो सकती है. और यदि दांये घुटने का निचला हिस्सा फड़क रहा है तो यह शत्रु पर विजय (win on enemy) हासिल करने का संकेत है. आपके बांये घुटने का निचला हिस्सा फड़क रहा है तो आपके कार्य पूरा होने की संभावना बड जाती है. बांये घुटने का उपरी हिस्सा फड़क रहा है तो इसका फल कुछ नहीं होता है.
आपके पेट में फड़कन है तो यह अन्न की समृद्धि की सूचना देता है. यदि पेट का दांया हिस्सा फड़क रहा है तो घर में धन दौलत की वृद्धि (growth in money) होगी सुख और खुशहाली बडती है. अगर आपके पेट का बांया हिस्सा (right part of stomach) फड़कता है तो धन समृद्धि धीमी गति से बडती है वैसे यह शुभ नहीं है. पेट का उपरी भाग फड़कता है तो यह अशुभ होता है. लेकिन पेट के नीचे का भाग फड़कता है तो स्वादिष्ट भोजन (delicious food) की प्राप्ति होती है.
पीठ दांयी ओर से फड़क रही है तो धन धान्य की वृद्धि हो सकती है लेकिन पीठ के बांये भाग का फडकना ठीक नहीं होता है. मुकद्दमे में हार (loss in legal case) या किसी से झगड़ा (fight) हो सकता है.बाँयी पीठ में फड़कन धीमी हो तो परिवार में कन्या का जन्म (birth of a girl) होना संभव है और फड़कन तेज हो तो अपरिपक्व यानि समय से पहले ही प्रसव हो सकता है. पीठ का उपरी हिस्सा फड़क रहा हो तो धन की प्राप्ति होती है और पीठ का निचला हिस्सा फड़कता है तो बहुत से मनुष्यों की प्रशंसा मिलने की संभावना रहती है.

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें