Adsense responsive

गुरुवार, 26 नवंबर 2015

550 साल पुरानी ममी

           
              550 साल पुरानी ममी



हिमाचल प्रदेश के गियू गांव में एक ऐसी ममी है जिसके नाखून और बाल आज भी बढ़ते हैं। यह ममी करीब 550 साल से भी ज्यादा पुरानी है। सालभर में 5 से 8 महीने बर्फ से ढ़के रहने वाले इस गांव में लोग खासतौर पर ममी को देखने के लिए जाते हैं। गियू गांव भारत और नेपाल की सीमा पर बसा हुआ है। इस ममी की खासियत है कि यह विश्व की एकमात्र ऐसी ममी है जो बैठी हुई अवस्था में है।

बताया जाता है कि साल 1995 में आईटीबीटी के जवानों को सड़क निर्माण के दौरान यह ममी दिखाई दी थी। उस वक्त कुदाल लगने से इस ममी के सिर से खून बहने लगा था। आज भी कुदाल का घाव ममी के सिर पर दिखाई देता है। इस ममी को शिशे के एक कैबिन में रखा गया है। इस ममी के बारे में लोगों की अलग-अलग मान्यताएं हैं। कई लोग इसे बौद्ध भिक्षु सांगला तेनजिंग बताते हैं तो कई लोग गांव का ही कोई संत। हालांकि, अब इस ममी के बाल और नाखून बढ़ने कम हो गए हैं।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें