Adsense responsive

सोमवार, 1 जून 2015

पहाड़ों पर चढ़ते समय लोग आगे और उतरते समय पीछे की ओर क्यों झुक जाते हैं ?


पहाड़ों पर चढ़ते समय लोग आगे और उतरते समय पीछे की ओर क्यों झुक जाते हैं ?

जब हम सीधे खड़े होते हैं, तो हमारा गुरुत्व केंद्र हमारे पैरों के बीच में होता है। इसी के कारण हम संतुलित होकर खड़े रहते हैं। सामान्य मैदान में चलने पर यह गुरुत्व केंद्र चलने की दिशा में बदलता रहता है, लेकिन यह संतुलित अवस्था से इधर - उधर विचलित नहीं होता है। परन्तु जब हम मैदान की अपेक्षा पहाड़ की ऊंचाई पर चढ़ते हैं, तो हमारा गुरुत्व केंद्र आगे की ओर बढ़ जाता है। अतः इसे संतुलित करने के लिए हमें भी आगे की ओर झुकना पड़ता है, अन्यथा हम संतुलन खोकर गिर सकते हैं। ठीक इसी तरह जब हम पहाड़ से नीचे की ओर उतर रहे होते हैं , तो हमारा गुरुत्व केंद्र पीछे की ओर बढ़ जाता है, अतः इसे सन्तुलित करने के लिए हमें पीछे की ओर झुकना पड़ता है। इसलिए पहाड़ों पर चढ़ते - उतरते समय हम गिर न जाएँ, इसके लिए पहाड़ों पर चढ़ते समय आगे की ओर और उतरते समय पीछे की ओर झुकना आवश्यक होता है।











कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें