Adsense responsive

शुक्रवार, 22 मई 2015

गर्म पानी की थैली से सेंकने पर दर्द कम क्यों हो जाता है ?


गर्म पानी की थैली से सेंकने पर दर्द कम क्यों हो जाता है ?

अभी तक इस बारे में कोई ठोस जानकारी नहीं है, फिर भी गर्म थैली से दर्द कम होने के बारे में कुछ मान्यताएं है। कुछ का कहना है कि हमें  किसी भी स्थान पर दर्द तब मालूम पड़ता है, जब दर्द के स्थान में गुजर रही कुछ दर्द नाड़ियों में चुनचुनाहट आदि होने लगती है। जब इसकी सूचना मस्तिष्क तक पहुँचती है ,तो हमें दर्द मालूम पड़ता हैं। अतः जब गर्म पानी की थैली दर्द के स्थान पर रखते है तो वहां की तनावपूर्ण तथा दर्द भरी पेशियों को गर्माहट के कारण कुछ राहत मिलती है और वहां रक्त का संचार बढ़ जाता हैं ,जो दर्द कम करने में सहायता करता है। लेकिन कुछ वैज्ञानिकों का कहना है कि गर्म थैली से दर्द की नाड़ियों और बिना दर्द की नाड़ियों में चुनचुनाहट पैदा हो जाती है और जब इन दोनों की सूचना मस्तिष्क को पहुँचती है ,तो वहां भ्रम उत्त्पन्न हो जाता हैं , अतः दर्द का अनुभव नहीं होता। इसके अतिरिक्त यह भी सम्भावना है कि दर्द होने पर उसे दूर करने के लिए मस्तिष्क द्वारा ' एंडोर्फिन ' भेजी जाती है। अतः गर्म थैली द्वारा रक्तसंचार बढ़ जाने से इसकी मात्रा भी अधिक पहुँच जाती है और दर्द में राहत मिलती है। अतः यह स्पष्ट है की दर्द के स्थान पर गर्म थैली रखने से दर्द में कुछ राहत अवश्य मिलती है।








घरेलु उपचार सम्बंधित देशी नुस्खे जानने के लिए यहाँ क्लिक करें 


















कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें