Adsense responsive

शुक्रवार, 10 अप्रैल 2015

# नदी के बीच में पानी का बहाव अधिक क्यों होता है ?

किनारों की अपेक्षा नदी के बीच में पानी का बहाव अधिक क्यों होता है ?

              पानी ऊंचाई से नीचाई की ओर बहना प्रारम्भ कर देता है और अवरोध आने पर रुकने लगता है। वैसे भी पानी एक तरह से लसीला द्रव है। इस तरह के द्रवों का बहाव विशेष प्रकार का होता है। ऐसे द्रव यदि किसी पाइप में बह रहे हैं तो उन्हें पानी के अणुओं की परतों की चट्टे के रूप में बहता माना जा सकता है। जब पानी नदी में बहता है तो नदी के किनारों पर घर्षण अवरोध के कारण किनारे के संपर्क में आनेवाली पानी की परतें लगभग गतिशून्य - सी हो जाती हैं। लेकिन नदी के बीच में बहने वाले पानी पर इसका असर बेमालूम - सा पड़ता है, अतः नदी के किनारों पर बहने वाले पानी की अपेक्षा नदी के बीच में बहने वाले पानी का बहाव अधिक होता है।
























कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें