Adsense responsive

गुरुवार, 2 अप्रैल 2015

पवित्र गौदुग्ध

गौदुग्ध पवित्र क्यों माना जाता है? 

             गौ को माता कहा गया है। इसका दूध पौष्टिक व सतोगुण प्रधान है। धर्मशास्त्र में गोदुग्ध शुचि माना गया है। इसका भोग देवताओं को चढ़ता है।  गौदुग्ध से बनी मिठाई, बर्फी, कलाकन्द एवं पेड़े देव-पूजा के काम आते हैं। अतः  गौदुग्ध पवित्र है। 
              गौदुग्ध के सेवन से अनेक रोग नष्ट हो जाते हैं। गाय का दूध संग्रहणी, शोध आदि अनेक असाध्य रोगों की अचूक औषधि है। कुशल-स्थूलता एवं मेदा वृद्धि को दूर करने में केवल  गौदुग्ध का ही प्रयोग होता है। पाश्चात्य वैज्ञानिकों ने अनेक परीक्षण के बाद  गौदुग्ध में प्राप्त प्रोटीन एवं विटामिनों का विशेष विश्लेषण करके इसके तत्त्व को पहचाना है, इसलिए वे  गौदुग्ध के स्थान पर अन्य पशुओं के दुग्ध का सेवन नहीं करते।























कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें