Adsense responsive

गुरुवार, 16 अप्रैल 2015

रात की रानी के फूल रात में ही क्यों खिलते हैं ?

रात की रानी के फूल रात में ही क्यों खिलते हैं ? 

               जैसे कुछ जीव रात में ही सक्रिय होते हैं , वैसे ही कुछ पौधे भी। ऐसे ही पौधों में है  रात की रानी , हनी सकल और नाइटशेड। क्या आप जानते हैं कि रात की रानी जैसे पौधों में फूल रात को क्यों खिलते है? जिन पौधों के फूल रात को खिलते है , उनमे  मोहक सुगंध होती  है। इस सुगंध के कारण पतंगे जैसे रात में क्रियाशील होने वाले जीव इनकी और आकर्षित होते है। जब ये कीड़े फूल पर बैठते हैं तो परागकण इनके पंखो से चिपक जाते है,फिर इन कीड़ो से ये परागकण दूसरे फूल तक पहुँच जाते है। अतः हम कह सकते है कि रात की रानी के फूल रात में उन कीड़ो को आकृषित करने के लिए ही खिलते है ,जो पराग - सेव न की क्रिया में सहायक होते है। वैसे रात्रि में अक्सर वे ही फूल खिलते  है , जो दिन में सूर्य की गर्मी और प्रकाश को सहन नही कर सकते। रात्रि में खिलने  वाले फूलो के विषय में एक तथ्य यह भी है कि इन फूलो का रंग बहुत चमकीला नही होता , क्योकि यह रंग रात्रि के अंधेरे में दिखाई नही देता रात्रि में खिलने वाले अधिकतर फूलो का रंग सफ़ेद होता है , क्योकि सफ़ेद रंग अँधेरे में भी स्पष्ट दिखाई देता है और कीड़ो को आकृषित करने में सहायक होता है।


















कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें