Adsense responsive

रविवार, 8 फ़रवरी 2015

राहु केतु आकाश में दिखाई क्यों नहीं देते?

राहु केतु यदि ग्रह है तो और ग्रहों की भांति आकाश में दिखाई क्यों नहीं देते? 

सभी ज्योषित गं्रथों में राहु-केतु को छाया ग्रह माना गया है जो केवल पर्वकाल की अवस्था में भिन्न-भिन्न समय में ही आकाश में दिखाई देते हैं।
आचार्य वराहमिहिर ने ‘राहुचाराध्याय‘ एवं ‘केतु चाराध्याय‘ नामक स्वतंत्र अध्याय विस्तृत से लिखकर राहु केतु आकाश में कब-कब दिखाई देंगे। विश्व में किन-किन देशों में दिखाई देंगे। इसका गणितागत स्पष्टीकरण दिया है।  







कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें